M.A. Final

MGS University, Bikaner

 

एम.ए. उतरार्द्ध –

Paper 1. मध्‍यकालीन एवं प्राचीन राजस्‍थानी काव्‍य
इकाई—1 : रणमल्‍ल छंद : श्रीधर व्‍यास
इकाई—2 : हाला झाला रा कुण्‍डलिया : ईसरदास
इकाई—3 : वेलि किसण रूकमणी री : पृथ्‍वीराज राठौड़
इकाई—4 : ढोला मारू रा दूहा
Paper 2. मध्‍यकालीन एवं प्राचीन गद्य
इकाई—1 : अचलदास खींची री वचनिका
इकाई—2 : राजस्‍थानी साहित्‍य संग्रह
इकाई—3 : कुंवरसी सांखलो
इकाई—4 : जगदेव परमार री बात

Paper 3. काव्‍यशास्‍त्र एवं पाठालोचन
इकाई—1 : भारतीय एवं पाश्‍चात्‍य काव्‍यशास्‍त्रीय सिद्धांतों का अध्‍ययन (साहित्‍य का स्‍वरूप एवं विवेचन, भारतीय एवं पाश्‍चात्‍य दृष्टि, साहित्‍य के तत्‍व, काव्‍य की मूल प्रेरणा और प्रयोजन)
इकाई—2 : विभिन्‍न काव्‍यरूपों का अध्‍ययन(रस सिद्धांत : रस निष्‍पत्ति, साधारणीकर, अलंकार संप्रदाय, वक्रोक्ति सिद्धांत : स्‍वरूप और भेद, ध्‍वनि सिद्धांत : ध्‍वनि का अर्थ और भेद/
अरस्‍तू के काव्‍य सिद्धांत : अनुकृति सिद्धांत, विरेचन सिद्धांत एवं काव्‍यरूपों का विवेचन/ क्रोंचे का अभिव्‍यंजनावाद/ आई.ए. रिचर्डस के काव्‍य सिद्धांत : मूल्‍य सिद्धांत)
इकाई—3 : राजस्‍थानी काव्‍यशास्‍त्र और छंदशास्‍त्र का अध्‍ययन (राजस्‍थानी छंदशास्‍त्र का परिचय, अलंकार, काव्‍य दोष)
इकाई—4 : पाठालोचन के सिद्धांत एवं पाठ संपादन की प्रक्रिया का अध्‍ययन (पाठालोचन की परिभाषा, स्‍वरूप और सिद्धांत)

Paper 4. विशिष्‍ट साहित्‍यकार
ईसरदास बारहठ/ महाराजा चतुरसिंह/ गणेशलाल व्‍यास उस्‍ताद (कोई एक)

Paper 5.निबंध या लघु शोध प्रबंध –
नियमित विद्यार्थी जिनके पूर्वार्द्ध में 55 प्रतिशत से अधिक नंबर है, लघु शोध प्रबंध लिख सकते हैं। स्‍वयंपाठी एवं अन्‍य विद्यार्थियों के लिए एक विकल्‍प रखा गया है। ‘निबंध’ पेपर के रूप में। उनको इस पेपर में ‘निबंध’ लिखना होता है। पेपर में 10 निबंध दिये होते हैं, जिनमें से परीक्षार्थी को एक विषय पर निबंध लिखना होता है।

:::: हरेक पेपर 100 नंबर रौ हुवै। पास हुवण सारू अेक पेपर में कम सूं कम 20 नंबर अर सगळै नंबरां रौ जोड़ 36 परसेंट हुवणौ जरूरी है। 40 परसेंट सूं सेंकड डिवीजन अर 60 परसेंट सूं फस्ट्र डिवीजन बणै।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: